September 26, 2021

सिलगेर-तर्रेम में धरना प्रदर्शन के कारण सम्पूर्ण उसूर क्षेत्र में तेजी से बढ़ रहा है कोरोना का ग्राफ

बीजापुर जिले के उसूर तहसील अन्तर्गत तर्रेम क्षेत्र में विगत 25 दिनों से ग्रामीणों द्वारा धरना-प्रदर्शन कर भीड़-भाड़ की स्थिति निर्मित किया गया है।कोरोना संक्रमण के मद्देनजर प्रशासन की समझाइश के बाद भी लोग धरना प्रदर्शन मे डटे हुए है।विगत 15 दिनों से उसूर क्षेत्र में 500 से अधिक पाजिटिव्ह मरीजों की पुष्टि की गई है, जबकि धरना प्रदर्शन से पूर्व मात्र 123 केस था ।जिस रफ्तार से केस बढ़ रहे है वह चिंता का विषय है।अगर अभी भी लोग लापरवाही करेंगे तो स्थिति और भी भयावह हो जाएगी तर्रेम क्षेत्र सुकमा जिला के बार्डर पर स्थित है वहां भी दिनोंदिन केस बढ़ने के कारण आंशिक लाकडाऊन किया गया है।लगातार पाजिटिव्ह प्रकरण बढ़ने की दशा में तहसील उसूर को कंटेंटमेंट जोन मे घोषित किया गया है एवं सम्पूर्ण क्षेत्र हाट-स्पाँट के रूप में तब्दील हो रहा है जिनमें प्रमुख रुप से छुटवाही,गगनपल्ली,जारपल्ली,नरसापुर,मरूड़बाका,पुसबाका,रासपल्ली,बुदीचेरू,चिपुरभट्टी,पेगड़ापल्ली,आदि गांवों में अधिक मरीज पाए गए यह सब ग्रामीण धरना-प्रदर्शन में शामिल होने के कारण संक्रमित हुए है।जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के टीम द्वारा लगातार डोर टू डोर सर्वे किया जा रहा है एवं मरीजों को आवश्यक दवाईयां वितरण कर उपचार एवं परामर्श दिया जा रहा है।कोरोना संक्रमण को रोकने प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है। लोगों को सावधानियां बरतने की हिदायत दी गई है ।उक्त क्षेत्र में प्रतिबंधात्मक आदेश का पालन करने की समझाइश दी गई है।आदेश के अवहेलना करने वालो पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।अतः लोगों से अपील है कि कोरोना गाईड लाईन का पालन करते हुए घर पर रहे सुरक्षित रहे।इस क्षेत्र में अनावश्यक रूप से आवागमन न करें और पात्र हितग्राही कोरोना संक्रमण से बचने टीकाकरण में सहभागिता बने और टीका लगवाए।सर्दी -खांसी ,बुखार जैसे लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करे अधिक से अधिक कोरोना जांच कराऐ।