छत्तीसगढ़ ट्रांसपोर्टर्स ने मनाया ‘काला दिवस’, डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ खोला मोर्चा

देशभर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि हो रही है. आसमान छूते दामों को लेकर नेता से से लेकर अब आम जनता से अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं. पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि को लेकर मोर्चा खोल रहे हैं. इसी कड़ी में ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट के आह्वान पर छत्तीसगढ़ के ट्रांसपोर्टर्स ने भी ब्लैक डे मनाया. डीजल के बढ़ते दाम को कम करने की मांग की.

छत्तीसगढ़ ट्रांसपोर्टर्स ने मनाया ‘काला दिवस’

रायपुर-बस्तर कोरापुट परिवहन संघ के सचिव दीवाकर अवस्थी ने बताया कि ट्रांसपोर्ट नगर के संघ से जुड़े परिवहनकर्ता अपने वाहनों में काला झंडा लगाकर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने के लिए निकले हैं. हमारी मांग है कि रोड टैक्स में छूट दी जाए. डीजल की कीमत में भारी वृद्धि हो रही है, इसलिए भाड़े में भी वृद्धि होनी चाहिए.

दीवाकर अवस्थी ने बताया कि हमने सरकार को 5 अगस्त तक का समय दिया है. अगर तब तक हमारी मांगें पूरी नहीं होती तो हम ट्रक को सड़कों पर खड़ा कर देंगे और चक्का जाम करेंगे. उसके बाद भी सरकार हमारी मांगों को अनसुना करती है, तो हम आत्महत्या करने की कोशिश करेंगे.

दीवाकर अवस्थी ने बताया कि हमारे पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है. ट्रांसपोर्टर्स का कहना है कि वह कई दिनों से राज्य सरकार से भाड़े में वृद्धि की मांग कर रहे थे, लेकिन अब तक उनकी मांगों को अनसुना किया गया है. अब उन्होंने 1 महीने का अल्टीमेटम दिया है, ट्रांसपोर्टर्स ने उम्मीद जताई है कि इस प्रदर्शन के बाद शायद उनकी मांगें पूरी हो जाए.